Baaki!!!

धड़कने भी आजकल रुक रुक के चलती हैं इस दिल मे अब तोड़ने को बाकी क्या है, हर मुकाम जो तुझ तक जाता था, छोड़ दिया, अब कहो और छोड़ने को बाकी क्या है जहा नाम आया तेरा दिशा बदल ली हमने, नक्श-ए-ज़िंदगी मे अब मोड़ने को बाकी क्या है, दे के सारी खुशियाँ तुम्हे […]

Read more "Baaki!!!"

Beti!

Aansuo’n ko vo chhupana bahut achhe se janti hai, Dhara si hai, sabko gale lagana achhe se  janti hai, Aasman se unchi udaan ke sapne bunti hai nadaan, Hawao’n pe haule se sawar ho ke udna bhi jaanti hai, Zindagi ki aag me yu’n hi swah hoti hai…  kisi ki beti hai.     आँसुओं […]

Read more "Beti!"